बिहार सरकार ने दिल्ली,मुंबई,सूरत,कोलकाता और गुरुग्राम  जैसे 11 अधिक जोखिम वाले शहरों से लौट रहे प्रवासी मजदूरों को ही ब्लॉक स्तर के quarantine केंद्रों पर रखने का फैसला किया है.


अन्य शहरों से वापस आ रहे लोगों के बारे में संबंधित जिला मजिस्ट्रेट फैसला करेंगे कि उन्हें घर में क्वॉरेंटाइन किया जाए या अस्पताल में.
मुख्य सचिव दीपक कुमार ने बताया कि बड़ी संख्या में वापस लौट रहे लोगों के मद्देनजर यह प्रावधान किया गया है.

उन्होंने यह स्पष्ट किया कि विमान या अपने वाहन से आ रहे या रेल टिकट खरीदकर वापस आ रहे लोगों को घर पर quarantine की अनुमति दी जाएगी.राज्य में ब्लॉक स्तर पर 13825 quarantine केंद्रों में  9 लाख से अधिक प्रवासी मजदूर रह रहे हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here