लॉकडाउन के कारण शिक्षा व्यवस्था पर काफी असर पड़ रहा है. दसवीं और बारहवीं की बोर्ड की परीक्षा, इंजीनियरिंग, मेडिकल की इंटरेंस परीक्षा की तिथी आगे बढ़ा दी गई है. 3 मई के बाद लॉकडाउन नहीं बढ़ने की स्थिति में बिहार बोर्ड 10वीं रिजल्ट मई के दूसरे सप्ताह में घोषित हो सकता था. पर 17 मई तक लॉकडाउन बढ़ने के कारण बिहार बोर्ड 10वीं रिजल्ट ( BSEB Bihar Board Matric Result 2020 ) मई के अंत में घोषित किया जा सकता है.

बिहार बोर्ड विद्यालय परीक्षा समिति (बिहार बोर्ड-बीएसईबी) 10वीं का 75 प्रतिशत मूल्यांकन कार्य हो चुका है. आगे की प्रक्रिया पूरी करने में बोर्ड को सिर्फ तीन से चार दिन लगेंगे. बता दें कि मैट्रिक की कॉपियों का मूल्यांकन सात मार्च से शुरू हुआ था और 25 मार्च तक यह काम खत्म किया जाना था. लेकिन शिक्षकों की हड़ताल और लॉकडाउन के कारण कॉपियां जांचने का काम 31 मार्च तक बढ़ाया गया. लॉकडाउन लागू होने के बाद बोर्ड ने आदेश जारी कर 3 मई तक के लिए कॉपियां का मूल्यांकन स्थगित कर दिया था. अब लॉकडाउन 17 मई तक फिर से बढ़ने पर कॉपियां का मूल्यांकन फिर से रुक गया है. पिछले साल 6 अप्रैल को मैट्रिक के परिणाम आए थे.

पिछले साल कुछ ऐसा था 10वीं का रिजल्ट

साल 2019 में 80.73 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए थे. बिहार बोर्ड मैट्रिक 2018 की परीक्षा में कुल 68.89 प्रतिशत विद्यार्थी पास हुए थे। यानी पिछले साल रिजल्ट काफी बेहतर रहा था. 2019 में करीब 12 प्रतिशत स्डूटेंस ज्यादा पास हुए थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here