बिहार की राजधानी पटना समेत कई जिलों में मंगलवार को मौसम का मिजाज बदल गया। दिन में ही रात जैसा अंधेरा छाया और तेज बारिश शुरू हो गई। फिलहाल बारिश और वज्रपात से अभी तक कहीं से कोई अप्रिय समाचार नहीं मिला है।
पटना के अलावा समस्तीपुर, बेतिया, नालंदा, मोतिहारी, सिवान, भोजपुर, गोपालगंज समेत कई जिलों में तेज आंधी और बारिश का प्रकोप लोगों को झेलना पड़ा है। मौसम के बिगड़े मिजाज से आम और गेहूं की फसल को भी नुकसान पहुंचा है। जिन किसानों ने गेंहू की कटनी करा फसल खलिहान में रखी थी उनमें से कई ने प्लास्टिक शीट के जरिए अपनी मेहनत को बचाने की कोशिश की है। लेकिन वो खेतों में खड़ी फसल पर बारिश का असर पड़ने से नहीं रोक पाए।

मौसम विभाग ने थोड़ी देर पहले खगड़िया, सुपौल, मधेपुरा, सहरसा, मुंगेर, भागलपुर, बांका, जमुई, शेखपुरा, अररिया, पूर्णिया, कटिहार और किशनगंज जिले में अगले 2-3 घंटे के दौरान हल्की से मध्यम दर्जे की बारिश, वज्रपात और तेज हवा (50 से 70 किमी प्रति घंटा) की नई चेतावनी भी जारी की है। इस अलर्ट के मुताबिक मंगलवार की सुबह 9.30 बजे से अगले 2-3 घंटों में इन जिलों में मौसम बदल सकता है।


पटना समेत राज्य के कई जिलों में बारिश को लेकर मौसम विभाग ने पहले ही अलर्ट जारी कर दिया था। मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में जानकारी दी थी कि बिहार में मौसम करवट ले सकता है। मौसम विभाग के वैज्ञानिकों के मुताबिक काल बैसाखी के प्रभाव के चलते बारिश हुई है। मौसम विज्ञान के वैज्ञानिक के मुताबिक बारिश का ये सिलसिला बिहार के पश्चिमी इलाके से शुरू होकर यह हर जिले में प्रभावी होगा। पूर्वानुमान में ये भी कहा गया है कि कि ज्यादा जिलों में तेज आंधी के साथ बारिश होगी। ऐसे में वज्रपात और ओलावृष्टि की भी संभावना है। मौसम विभाग ने अलर्ट जारी करने के साथ वज्रपात की आशंका को देखते हुए लोगों से बाहर कम निकलने की अपील की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here